Madhyakalin Bharat Ka Itihas PDF By Satish Chandra Download

Hello Students, आज हम आपके लिए Madhyakalin Bharat PDF Book लेकर आए हैं जिसको Satish Chandra Sir ने लिखा है जिसमें 1206-1526 तक के भारत के इतिहास की पूरी जानकारी दी गई है यह Book उन सभी के लिए बहुत उपयोगी है जो भारत के इतिहास की जानकारी पढ़ने के शौक़ीन हैं क्यूँकि इसमें पूरे शासन काल और उन सभी चीज़ों की जानकारी दी गई है जो मध्यकालीन भारत में घटी थी मध्यकालीन भारत में क्या क्या बदलाव हुए क्या क्या हमारे देश ने पाया और क्या क्या खोया उन सब इ जानकारी इसमें दी गई है। यह Madhyakalin Bharat PDF,  History Medieval of India (मध्यकालीन भारत का इतिहास Pdf) उन सभी Students के लिए Helpful है जो किसी Competitive Exams की तैयारी कर रहे हैं आप इस Book को नीचे दिए गए Download Button स Download कर सकते हैं

Madhyakalin Bharat Ka Itihas PDF

मध्यकालीन भारत – राजनीती और समाज और संस्कृत सतीश चंद्र के आधुनिक भारत का इतिहास, भारत पर एक आधिकारिक पुस्तक और वैश्विक स्तर पर इसकी प्रगति की उम्र का हिंदी अनुवाद है।

Summary of the Book

भारत के इतिहास में एक सहस्राब्दी की कहानी को कवर करते हुए, इस पुस्तक ने एक ऐसे देश से भारत की प्रगति पर चर्चा की जो वैश्विक स्तर पर एक देश में अस्तित्व में लड़ा और लड़ा। 800 के दशक में वैश्विक स्थिति के साथ, सतीश चंद्र उस समय रेखा पर दुनिया के राजनीतिक मानचित्र का वर्णन करते हैं और फिर भारत और उसके शहर-राज्यों में प्रगति करते हैं। चोल साम्राज्य को दक्षिण में वर्णित करते हुए, वह उत्तर में लाकर परिदृश्यों के बीच अंतर दिखाने के लिए प्रगति करता है, जहां तुर्क अग्रिम करने के लिए तैयार थे। उन्होंने वर्णन किया कि कैसे दिल्ली सुल्तानत की स्थापना हुई और यह पूरे उत्तर को कैसे व्यवस्थित किया गया। यह दक्षिण में वापस चलेगा और विजयनगर साम्राज्य के उदय, और पुर्तगाली के दक्षिण में आगमन की चर्चा करता है। पुस्तक में से अधिकांश मुगलों और अफगानों और मुगल साम्राज्य कैसे उभरा, और अंत में भारत में गिर गया। मूल का यह हिंदी अनुवाद 800 और 1700 के बीच भारत की कहानी को खूबसूरती से पकड़ता है।

Download -   9000+ General Knowledge Question & Answer In Hindi PDF 2018

Madhyakalin Bharat Satish Chandra PDF

हम आपको इस टाँपिक से सम्बन्धित कुछ जानकारी प्रदान कर रहे तो आप लोग इस जानकारी को जरुर पढे तो हमने कुछ Example दिये है। तो आप लोगो को एक बार फिर से बता दे की यह नोट्स काफी महत्वपूर्ण है। यह महत्वपूर्ण इसलिए है। क्योकि ये बहुत सी प्रतियोगी परीक्षाओ मे इससे Questions पुछे जाते है। और बहुत सी मात्रा मे इस टाँपिक से Questions पुछे जाते है।

  • मुगल शब्द की लेटिन भाषा के MONG शब्द से हुआ है जिसका अर्थ बहादुर होता है
  • मुगल वंश के शासक तुर्की नस्ल के चगताई शाखा से सम्बन्ध रखते थे, भारत में मुगल वंश की नींव 1526 ई, में जहीरुद्दीन बाबर के द्वारा डाली गई .
  • बाजौर और भेरा पर आक्रमण (1519 ई०)
  • पेशावर पर आक्रमण (1519 ईश्वर)
  • स्थालकोट पर आक्रमण (1520 ईसवी)
  • लाहौर और दीपालपुर पर आक्रमण (1524 ईसवी)
  • पानीपत की प्रथम लडाई
  • चौसा का युध्द
  • सूर वंश
  • मारवाड विजय
  • कलिंजर का युध्द
  • न्याय व्यवस्था
  • पानीपुत का द्वितीय लडाई
  • दीन ए इलाही धर्म
  • साम्राज्य विस्तार
  • हल्दी घाटी का युध्द
  • दक्षिण भारत की विजय
  • हिन्दी भाषा के कवि
  • अकबर के नवरत्न
  • नुरजहाँ
  • शाहजहाँ

About Satish Chandra

Satish Chandra is an Indian Historian, writer and academician. The son of a leading businessman from the former United Provinces, he is a former professor and Chairperson at the Centre for Historical Studies, Jawaharlal Nehru University, New Delhi. He has also served as the Chairman of the University Grants Commission of India and the General President of the Indian History Congress.

Madhyakalin Bharat Ka Itihas PDF

Note – नीचे दिए गए Download Button पर Click करें और इस Book का PDF अपने Mobile/Computer में Download करें

Download -   Vocabulary Magical Tricks PDF In Hindi Download

Download PDF

तो दोस्तों ये थी Madhyakalin Bharat Ka Itihas PDF आशा करता हु यह बुक आपकी आगामी परीक्षा में महत्वपूर्ण साबित होगी। और आपको अच्छे अंक दिलाने में महत्वपूर्ण साबित होगी

Madhyakalin Bharat Question And Answer

● खजुराहों के मंदिर कहाँ स्थित हैं— मध्य प्रदेश 
● हवा महल कहाँ स्थित है— जयपुर 
● बड़ा इमामबाड़ा कहाँ स्थित है— लखनऊ 
● चेतक घोड़ा किससे संबंधित है— राणा प्रताप 
● बीजागणित के क्षेत्र में अपने विशेष योगदान के लिए किसे जाना जाता है— भास्कर 
● सबसे पुराना वाद्य यंत्र कौन-सा है— वीणा 
● किस वृहत मंदिर की आरंभिक कल्पना तथा निर्माण सूर्यवर्मन द्वितीय के राज्य काल में हुआ— अंकोरवाट का मंदिर 
● अमरावती बौद्ध स्तूप कहाँ है— आंध्र प्रदेश में 
● सलहर के युद्ध में मुगल सेना को किसने हराया— शिवाजी ने 
● सलहर का युद्ध कब हुआ था— 1672 ई. 
● किसे ‘रंगीला’ बादशाह कहा जाता है— मुहम्मद शाह 
● भारत का अंतिम मुगल सम्राट बहादुरशाह जफर (द्वितीय) का मकबरा कहाँ स्थित है— रंगून (यंगून), म्यांमार में 
● अहमद शाह अब्दाली ने भारत पर कितनी बार आक्रमण किए— 8 बार 
● नादिरशाह ने भारत पर आक्रमण कब किया— 1739 ई. 
● शिवाजी के समय कितना राजस्व वसूला जाता था— भू-राजस्व का 33% 
● ‘आगरा की जामा मस्जिद’ का निर्माण किसने कराया— जहाँआरा ने 
● किस सिख गुरु ने फारसी भाषा में जफरनामा लिखा— गुरु गोविंद सिंह 
● गुरु नानक का जीवन परिचय किस सिख गुरु ने लिखा— गुरु अर्जुन देव ने 
● औरंगजेब के शासन काल में बंगाल का नबाब कौन था— मुर्शीद कुली खाँ 
● शिवाजी की मृत्यु कब हुई— 12 अप्रैल, 1680 में 
● औरंगजेब ने ‘बीबी का मकबरा’ का निर्माण कब कराया— 1679 में 
● सामूगढ़ का युद्ध कब हुआ— 1658 में 
● जहाँगीर की पत्नी नूरजहाँ का वास्तविक नाम क्या था— मेहरुनिशा 
● हैदरअली मैसूर के शासक कब बने— 1761 
● नादिरशाह कहाँ का शासक था— ईरान का 
● माधवराव नारायण पेशवा कब बने— 1761 में 
● गुरु गोविंद सिंह ने खालसा पंथ की नींव कब डाली— 1699 ई. में 
● किस गुरु ने विद्रोही मुगल राजकुमार की सहायता धन व मन से की थी— गुरु अर्जुन देव 
● सैय्यद बंधुओं का पतन किसके समय में हुआ— मुहम्मद शाह 
● फर्रुखसियर किसके सहयोग से मुगल बादशाह बना— सैय्यद बंधु 
● भारत पर आक्रमण करने वाले किस ईरानी शासक को ‘ईरान का नेपोलियन’ कहा जाता है— नादिर शाह को 
● किस राज्य के शासक ‘नवाब वजीर’ कहलाते थे— अवध के शासक 
● ‘आदिग्रंथ’ का समायोजन किसने किया— गुरु अर्जुन देव ने 

Download -   Current Affairs (अक्टूबर 2017 से फरवरी 2018) PDF में Download करें

Join Us On Facebook

Note: हमारे Facebook Group से जुड़ने के लिए नीचे दिए गए Facebook Button पर Click करें

Important
 इन नोट्स को परीक्षा से पहले उन सभी विद्यार्थी तक पंहुचाये. जिनको आप जीवन में सफल देखना चाहते हैं. यदि सबको सफल देखना चाहते हैं तो सभी के साथ शेयर करें. नीचे दिए गए Facebook और WhatsApp Button से Share कर सकते हैं. 

Leave a Comment

error: Content is protected !!