1000+ History Question And Answer In Hindi PDF Download

Hello Students, Welcome to Upsarkarinaukri.Com, जैसा की आप जानते हैं इस साल अलग अलग सेक्टर में लाखों सरकारी नौकरियों की भृतिया निकली हैं जिस की तैयारी के लिए प्रतिदिन हम यहाँ Study Material लेकर आते हैं. ठीक उसी तरह आज भी हम आपके लिए एक महत्वपूर्ण PDF Ebook लेकर आये हैं. जिसका नाम History Question And Answer In Hindi PDF है. दोस्तों ये Notes भारत में निकलने वाली हर प्रतियोगी परीक्षा के लिए बहुत महत्वपूर्ण है. जिसको आप नीचे दिए गए Download Button से Download कर सकते हैं।

History Question And Answer In Hindi

History से जुड़े प्र्श्न आपको किसी भी परीक्षा में अच्छे अंक दिला सकते हैं। क्यूँकि सभी एक दिवसीय परीक्षा में भारत के इतिहास से जुड़े प्र्श्न उत्तर अवश्य पूछे जाते हैं इसलिए हम यहाँ इतिहास के बहुत ही महत्वपूर्ण प्र्श्नो को उत्तर सही लिख रहे हैं। जिनको आप ध्यान पूर्वक पढ़े और ज़्यादा Indian History के ज़्यादा Questions को पढ़ने के लिए PDF Download कर सकते हैं।

  • खलीफा ने इस्लामिक इतिहास में सर्वप्रथम महमूद गजनवी को सुल्तान की उपाधि दी।
  • मोहम्मद गोरी ने 1176 ई. में सुल्तान पर आक्रमण किया।
  • 25 मार्च, 1206 ई. के धमयक में शिया विद्रोहियों और खोखरों ने मोहम्मद गोरी की हत्या कर दी।
  • 1202-03 ई. में कुतुबद्दीन ऐबक ने कालिंजर पर आक्रमण किया उस समय वहाँ का शासक पर्मार्दिदेव था।
  • कुतुबद्दीन ऐबक की नवम्बर 1210 ई. में लाहौर में घोड़े से गिर जाने से मृत्यु हो गई।
  • नवम्बर 1210 से जून 1211 ई. तक ऐबक के पुत्र आरामशाह ने शासन किया।
  • बलबन 1249 ई. में नायब-ए-मामलिकात के पद पर बैठा।
  • बलबन ने सिक्कों पर जिल्ले इलाही खुदवाया और मद्यपान बन्द करवाया।
  • इल्तुतमिश दिल्ली का पहला सुल्तान था जिसे 1229 ई. में बगदाद के खलीफा ने मान्यता दी।
  • सम्पूर्ण सल्तनत युग में सिद्धपाल पहला और अन्तिम हिन्दू था जिसे दिल्ली दरबार में उच्च पद मिला।
  • जलालउद्दीन खिजली 1290 ई. में 70 वर्ष की आयु में सुल्तान बना। उसकी राजधानी किलोखरी थी।
  • खिलजी वंश के इतिहास का महत्वपूर्ण स्रोत जियाउद्दीन बर्नी का तारीख-ए-फिरोजशाही है।
  • 1316 ई. में अलाउद्दीन खिलजी की जलोदर रोग से मृत्यु हो गई।
  • अलाउद्दीन प्रथम सल्तनत शासक था जिसने उलेमाओं की उपेक्षा की थी।
  • अलाउद्दीन खिलजी के समय में दिल्ली को अनेक व्यापारिक केन्द्रों से सड़क मार्ग द्वारा जोड़ा गया।
  • गियासुद्दीन तुगलक को 1315 ई. में अलाउद्दीन खिलजी ने दीपलपुर का सूबेदार नियुक्त किया। उसने 29 बार आक्रमणकारियों को परास्त किया। इसीलिए वह मलिक-उल-गाजी के नाम से विख्यात हुआ।
  • मोहम्म बिन तुगलक ने अपने सिक्कों पर ‘अल सुल्तान जिल्ली अल्लाह’, ‘ईश्वर सुल्तान का समर्थक है’ आदि अंकित करवाया।
  • अफ्रीकी यात्री इब्नबतूता मोहम्मद तुगलक के शासन का में भारत आया।
  • नसीरुद्दीन मोहम्मद शाह के काल में कबीरुद्दीन ओलिया के मकबरे का निर्माण हुआ जो लाल गुम्बद के नाम से विख्यात है।
  • सिंचाई कर उपज का दसवाँ भाग था। फिरोज तुगलक ने ब्राह्मणों पर जजिया कर लगाया।
  • सिकन्दर लोदी ने 1504 ई. में आगरा बसाया।
  • हेनरी इलियट और एल्फिंस्टन ने फिरोज तुगलक को सल्तनत युग का अकबर कहा।
  • मलिक सरवर नामक एक हिजड़ा जिसे ‘सुल्तान उस शर्क’ की उपाधि मिली थी जौनपुर में स्वतन्त्र शासक बन बैठा और शर्की राजवंश की नींव डाली।
  • दिल्ली सल्तनत में सुल्तान की सहायता के लिए एक मन्त्रिपरिषद् होती थी जिसे मजलिस-ए-खलवत कहा जाता था।
  • दीवान-ए-अमीर कोही की स्थापना मोहम्मद बिन तुगलक ने की जिसने काफी विशिष्टता प्राप्त की।
  • फिरोजशाह तुगलक ने ‘हाब-ए-शर्ब’ नामक सिंचाई कर लगाया। इसकी दर उपज का 1/20वाँ भाग थी।
  • राजवाही और उलूग खाजी फिरोजशाह तुगलक द्वारा बनवायी गईं प्रमुख नहरें थीं।
  • नौसेनिक बेड़े को बहर कहा जाता था। इसका अध्यक्ष अमीर-ए-बहर होता था।
  • मोहम्मद तुगलक ने अनेक करों को माफ किया जिससे व्यापार में वृद्धि हुई।
  • कश्मीर का सबसे उल्लेखनीय शासक जैन-उल-अबीदीन हुआ है जिसे ‘कश्मीर का अकबर’ कहा जाता है।
  • शेख निजामुद्दीन ओलिया का जन्म 1236 ई. में बदायूँ में हुआ था।
  • नरसिंह सालुव के पश्चात् उसका नाबालिग पुत्र इम्मादि नरसिंह शासक बना और नरेश नायक उसका संरक्षक।
  • उसने 1512 ई. में रायचुर दोदआब पर अधिकार कर लिया और 1520 ई. में बीजापुर को रोंद डाला तथा गुलबर्गा का किला जीत लिया।
  • युद्ध में वीरत दिखाने वाले पुरुषों को सम्मान देने के लिए ‘गंडपेद्र’ नामक पैर में धारण करने वाला आभूषण दिया जाता था।
  • 1336 ई. में हरिहर प्रथम ने हम्पी राज्य की नींव रखी और उसी वर्ष विजयनगर को राजधानी बनाया।
  • देवराय प्रथम (1406-1422 ई.) के पश्चात् रामचन्द्र सिंहासन पर बैठा, परन्तु वह कुछ माह तक ही शासन कर सका. उसके पश्चात् उसके भाई ने 1430 ई. तक शासन किया।
  • विजयनगर प्रशासन में राजा (राय) के बाद युवराज का पद होता था। युवराज की नियुक्ति के बाद उसका राज्याभिषेक किया जाता था जिसे युवराज पट्टा भिषेकम कहा जाता था।
  • गुलबर्गा के बाद बीदर बहमनी साम्राज्य की राजधानी बनी।
  • सुल्तान शमसुद्दीन मुहम्मद तृतीय ने संगमेश्वर, गोआ और बेलगाँव को क्रमशः 1471, 1472 और 1473 ई. में जीता।
  • बाबर ने 1504 ई. में काबुल जीता और 1507 ई. में कान्धार जीतकर बादशाह की उपाधि धारण की। 1510 ई. में शैबानी खाँ मर्व के युद्ध में मारा गया।

मौर्यकाल History Of India Questions Answers

● सबसे प्राचीनतम राजवंश कौन-सा है— मौर्य वंश
● मौर्य साम्राज्य की स्थापना किसने की— चंद्रगुप्त मौर्य
● मौर्य वंश की स्थापना कब की गई— 322 ई. पू.
● कौटिल्य/चाणक्य किसका प्रधानमंत्री था— चंद्रगुप्त मौर्य का
● चाणक्य का दूसरा नाम क्या था— विष्णु गुप्त
● चंदगुप्त के शासन विस्तार में सबसे अधिक मदद किसने की— चाणक्य ने
● किसकी तुलना मैकियावेली के ‘प्रिंस’ से की जाती है— कौटिल्य का अर्थशास्त्र
● किस शासक ने सिंहासन पर बैठने के लिए अपने बड़े भाई की हत्या की थी— अशोक
● सम्राट अशोक की उस पत्नी का नाम क्या था जिसने उसे प्रभावित किया था— कारुवाकी
● अशोक ने सभी शिलालेखों में एक रुपया से किस प्राकृत का प्रयोग किया था— मागधी
● बिंदुसार ने विद्रोहियों को कुचलने के लिए अशोक को कहाँ भेजा था— तक्षशिला
● किस सम्राट का नाम ‘देवान प्रियादर्शी’ था— सम्राट अशोक
● किस राजा ने कलिंग के युद्ध में नरसंहार को देखकर बौद्ध धर्म अपना लिया था— अशोक ने
● कलिंग का युद्ध कब हुआ— 261 ई. पू.
● प्राचीन भारत का कौन-सा शासक था जिसने अपने अंतिम दिनों में जैनधर्म को अपना लिया था— चंद्रगुप्त मौर्य
● मौर्य साम्राज्य में कौन-सी मुद्रा प्रचलित थी— पण
● अशोक का उत्तराधिकारी कौन था— कुणाल
● अर्थशास्त्र का लेखक किसके समकालीन था— चंद्रगुप्त मौर्य
● मौर्य काल में शिक्षा का प्रसिद्ध केंद्र कौन-सा था— तक्षशिला
● यूनान के शासक सेल्यूकस ने अपने राजदूत मेगास्थनीज को किसके राज दरबार में भारत भेजा— चंद्रगुप्त मौर्य
● चंद्रगुप्त मौर्य ने सेल्यूकस को कब पराजित किया— 305 ई. पू.
● मेगस्थनीज की पुस्तक का क्या नाम है— इंडिका
● किसके ग्रंथ में चंद्रगुप्त मौर्य के विशिष्ट रूप का वर्णन हुआ है— विशाखदत्त के ग्रंथ में
● ‘मुद्राराक्षस’ के लेखक कौन है— विशाखदत्त
● किस स्त्रोत में पाटलिपुत्र के प्रशासन का वर्णन है— इंडिका
● अशोक के शिलालेखों में कौन-सी भाषा थी— पाकृत
● किस मौर्य राजा ने दक्कन पर विजय प्राप्त की थी— कुणाल ने
● मेगास्थनीज द्वारा अपनी पुस्तक में समाज को कितने भागों में बाँटा गया था— पाँच
● ‘अर्थशास्त्र’ किसके संबंधित है— राजनीतिक नीतियों से
● किस शासक ने पाटलिपुत्र को अपनी राजधानी बनाया— चंद्रगुप्त मौर्य ने
● पाटलिपुत्र में चंद्रगुप्त का महल किसका बना था— लकड़ी का
● किस अभिलेख से यह सिद्ध होता है कि चंद्रगुप्त का प्रभाव पश्चिम भारत तक फैला हुआ था— रुद्रदमन का जूनागढ़ अभिलेख
● सर्वप्रथम भारतीय साम्राज्य किसने स्थापित किया— चंद्रगुप्त मौर्य ने
● किस स्तंभ में अशोक ने स्वयं को मगध का सम्राट बताया है— भाब्रू स्तंभ
● उत्तराखंड में अशोक का शिलालेख कहाँ स्थित है— कालसी में
● अशोक के शिलालेखों को पढ़ने वाला प्रथम अंग्रेज कौन था— जेम्स प्रिंसेप
● कलिंग युद्ध की विजय तथा क्षत्रियों का वर्णन किया शिलालेख में है— 13वें शिलालेख में (XIII)
● कौन-सा शासक जनता के संपर्क में रहता था— अशोक
● किस ग्रंथ में चंद्रगुप्त मौर्य के लिए ‘वृषल’ शब्द का प्रयोग किया गया है— मुद्राराक्षस
● किस राज्यादेश में अशोक के व्यक्तिगत नाम का उल्लेख मिलता है— मास्की
● श्रीनगर की स्थापना किस मौर्य शासक ने की— अशोक
● किस ग्रंथ में शुद्रों के लिए ‘आर्य’ शब्द का प्रयोग हुआ है— अर्थशास्त्र में
● किसने पाटलिपुत्र को ‘पोलिब्रोथा’ कहा था— मेगास्थनीज ने
● मौर्य काल में ‘एग्रनोमाई’ किसको कहा जाता था— सड़क निर्माण अधिकारी को
● अशोक के बारे में जानने के लिए महत्पूर्ण स्त्रोत क्या है— शिलालेख
● ‘भारतीय लिखने की कला नहीं जानते हैं’ यह किसने कहा था— मेगास्थनीज ने
● बिंदुसार की मृत्यु के समय अशोक एक प्रांत का गवर्नर था, वह प्रांत कौन-सा था— उज्जैन
● किसने अपने पुत्र व पुत्री को बौद्ध धर्म के प्रचार व प्रसार हेतु श्रीलंका भेजा— अशोक ने
● कौटिल्य द्वारा रचित अर्थशास्त्र कितने अभिकरणों में विभाजित है— 15
● अशोक का अभिलेख भारत के अलावा किस अन्य स्थान पर भी पाया गया है— अफगानिस्तान
● किस शिलालेख में अशोक ने घोषणा की, ‘‘सभी मनुष्य मेरे बच्चे है’’— प्रथम पृथक शिलालेख में
● किस स्थान से अशोक के शिलालेख के लिए पत्थर लिया जाता था— चुनार से
● किस महीने में मौर्यों का राजकोषीय वर्ष आरंभ होता था— आषाढ़ (जुलाई)
● किस जैन ग्रंथ में चंद्रगुप्त मौर्य के जैन धर्म अपनाने का उल्लेख मिलता है— परिशिष्ट पर्व में
● चंद्रगुप्त मौर्य का संघर्ष किस यूनानी शासक से हुआ— सेल्यूकस से
● एरियन ने चंद्रगुप्त मौर्य को क्या नाम दिया— सैंड्रोकोट्स
● किस ग्रंथ में चंद्रगुप्त मौर्य के लिए ‘कुलहीन’ शब्द का प्रयोग हुआ— मुद्राराक्षस
● किस ग्रंथ में दक्षिणी भारत के आक्रमणों का पता चलता है— तमिल ग्रंथ ‘अहनानूर’
● चंद्रगुप्त मौर्य का निधन कब हुआ— 297

Indian History Questions Answer In Hindi PDF Download

Note: नीचे दिए गए Download Button पर Click करके सामान्य अध्यन की Book को अपने Mobile या Computer में Download करें.

Click Here To Download

Join Us On Facebook

Note: हमारे Facebook Group से जुड़ने के लिए नीचे दिए गए Facebook Button पर Click करें

आशा करते हैं History of Rajsthan In Hindi PDF आपकी आने वाली सभी राजस्थान की प्रतियोगी परीक्षाओं के लिए बहुत महत्वपुर साबित होगा और आपको अच्छे अंक दिलाने में मदद करेगा.

Important
 इन नोट्स को परीक्षा से पहले उन सभी विद्यार्थी तक पंहुचाये. जिनको आप जीवन में सफल देखना चाहते हैं. यदि सबको सफल देखना चाहते हैं तो सभी के साथ शेयर करें. नीचे दिए गए Facebook और WhatsApp Button से Share कर सकते हैं. 

Leave a Comment

error: Content is protected !!